Business Mindset

वास्तविक जीवन में अनुभव के धागों से..
बुना ज्ञान ही वास्तविक ज्ञान है।

ऊँचा उठना है तो,
अपने अंदर के अहंकार को निकालकर,
स्वयं को हल्का कीजिये क्योंकि
ऊँचा वही उठता है जो हल्का होता है …

आलस्य से बढ़कर अधिक घातक और ..
अधिक समीपवर्ती शत्रु दूसरा नहीं।

मौन एक साधना है,
और सोच समझ कर बोलना एक कला है …

ये राहें ले ही जायेंगी मंजिल तक हौसला रख ।
कभी सुना है कि अँधेरे ने सवेरा होने न दिया ..

वादा ना करो अगर तुम निभा ना सको,
चाहो न उसको जिसे तुम पा ना सको,
दोस्त तो दुनिया में बहुत होते है,
पर एक खास रखो जिसके बिना मुस्कुरा ना सको …

इंसान को इंसान धोखा नहीं देता है,
बल्कि वो उम्मीदें धोखा दे जाती हैं
जो वो दूसरों से रखता है।

ज्ञानयोगी की तरह सोचें,
कर्मयोगी की तरह पुरुषार्थ करें,
और भक्तियोगी की तरह सहृदयता उभारें।

अपने को परिस्थितियों का ग़ुलाम कभी न समझो ।
तुम स्वयं अपने भाग्य के विधाता हो …